मृत्युंजय सिंह जिन्होंने 21 साल की उम्र में बनाया एडवर्टाइजमेंट टेक्नोलॉजी से रिलेटेड स्टार्टअप Adjuction.com

0
155
Spread the love

मृत्युंजय सिंह जिन्होंने 21 साल की उम्र में बनाया एडवर्टाइजमेंट टेक्नोलॉजी से रिलेटेड स्टार्टअप Adjuction.com और मात्र 20 दिन में ही 10 लाख की फंडिंग पा लिया ?

कहते हैं अगर आपमें कुछ कर गुज़रने की चाहत हो तो सफलता खुद-ब-खुद ही मिल जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ उत्तर प्रदेश के चंदौली ज़िले के एक छोटे से गांव के रहने वाले मृत्युंजय सिंह के साथ जिन्होंने अपनी महनत के बल पर इंटरनेट जगत में तहलका मचा दिया।। 21 वर्षीय मृत्युंजय पेशे से एक एथिकल हैकर हैं जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर ‘एडजंक्शन डॉट कॉम’ नाम की एक एडवर्टाइज़मेंट टेक्नोलॉजी से संबंधित वेबसाइट बनाई जो बिल्कुल अलग और इनोवेटिव है।

गौरतलब है कि मृत्युंजय सिंह ‘स्टार्टअप यात्रा यूपी एडिशन 2017’ के विजेता भी रह चुके हैं> मृत्युंजय ने एक इंटरव्यू में बताया उन्होंने अपने वेबसाइट पर गूगल एडसेंस का एड चला रहे था और कुछ प्रॉब्लम की वजह से Google Adsence ने उन्हें ब्लॉक कर दिया और उनका सारा पैसा डूब गया और इसी प्रॉब्लम को देखते हुए मृत्युंजय ने सोचा कि क्यों ना एक ऐसा प्लेटफॉर्म बनाया जाए जहां बड़ी बड़ी कंपनी का एडवरटाइजिंग और प्रमोशन कर सके और पब्लिशर अपनी वेबसाइट और एप्लीकेशन के द्वारा पैसे कमा सकते हैं और इसी को देखते हुए मृत्युंजय ने Adjuction.com नामक वेबसाइट की स्थापना कर डाली और 20 दिन के अंदर देखते ही देखते मृत्युंजय सिंह के वेबसाइट पर वर्ल्ड के बड़े-बड़े कंपनी अपना प्रोडक्ट का प्रमोशन करने लगे जैसे कि 9Apps VidMate UC Browser अलीबाबा और भी बहुत बड़े-बड़े कंपनी अपना Advertising और प्रमोशन कर रहे हैं और उनके साथ बहुत ज्यादा मात्रा में publisher पैसे कमा रहे हैं । 20 दिन के अंदर ही मृत्युंजय सिंह को 10 लाख की फंडिंग हो गई और ऐडजंक्शन डॉट कॉम 20 दिन में ही लाखों का टर्नओवर करना शुरू कर दीं।

हम आपको मृत्युंजय सिंह के बारे में कुछ और बातें बताते हैं, मृत्युजंय सिंह स्टार्ट यात्रा यूपी एडिशन 2017 की विनर रह चुके हैं और आईआईएम कोलकाता इनोवेशन पार्क ने इनकी दूसरे स्टार्टअप को इंडिया के 3000 सबसे बेस्ट स्टार्टअप में जगह दिया इस हिसाब से अगर देखा जाए तो कोडिंग और प्रोग्रामिंग थोड़ी भी नॉलेज नहीं है फिर भी मृत्युंजय सिंह ने साबित कर दिया कुछ भी कर पाना इंपॉसिबल नहीं है मृत्युंजय सिंह की इस वेबसाइट से बहुत लोग पैसे कमा रहे हैं और उनकी वेबसाइट 20 दिन के अंदर ही इतनी अच्छी ग्रोथ कर ली कि , बड़े बड़े ब्रांड इनके साथ टाई up करना चाहते हैं । मृत्युंजय अपनी काबिलियत के दम पर सबको लोहा मनवाया और कारोबारी जगत में कदम रखते हैं लाखों की कंपनी की स्थापना कर डाली.

मृत्युजंय सिंह के पिता पेशे से एक छोटे किशान है और बड़े भाई एक प्राईवेट जॉब करते हैं और माँ हाउस वाइफ हैं ?

मृत्युंजय सिंह अपनी कंपनी की शुरुआत अपने पिताजी से ₹1800 रूपये कर्ज लेकर शुरू किया सिर्फ डोमेन और होस्टिंग खरीदने के लिये और महीने भर पहले शुरू किया कंपनी आज इनकी कंपनी लाखों रुपए के टर्नओवर शुरू कर दी ।मृत्युजंय सिंह को पहली फंडिंग भी हो गई । मृत्युंजय पैसे से एक एथिकल हैकर हैं और वह गवर्नमेंट के लिए भी काम कर चुके हैं और बाद में लगा कि क्यों ना एक अपना स्टार्टअप शुरू किया जाए तो अपनी पुलिस की जॉब छोड़ कर इन्होंने इस स्टार्टअप की फील्ड में कदम रखा जहा इन्हें थोड़ी सी भी प्रोग्रामिंग की जानकारी नही थी और इस मुकाम पर उन्होंने सफलता के ऐसे झंडे गाड़े कि आज उनके बारे में सब लोग जानना चाहते हैं मृत्युंजय सिंह का एक और स्टार्टअप IIT BHU से रन कर रहे हैं उन्होंने दुनिया का सबसे छोटा इंटरनेट मोबाइल ब्राउज़र बनाया है VGMLite जिसकी जरूरत हमें वाकई में थी मृत्युजंय सिंह का यह Browser बहुत ही फास्ट सिक्योर और सिंपल तरीके से काम करता हैं मृत्युजंय सिंह के इस स्टार्टअप में हैदराबाद के बशीर मोहम्मद सर ने फण्ड किया है । मृत्युंजय सिंह ने अपनाए स्टार्टअप एंडजंक्शन डॉट कॉम अगस्त के पहले वीक में शुरू किया था और आज लगभग 1 महीने बाद मृत्युंजय सिंह के पास वर्ल्ड के टॉप लेवल के एडवरटाइजर और बहुत ज्यादा मात्रा में पब्लिशर्स हैं जो उनके साथ अपना कंपनी का प्रमोशन कर रहे हैं और पब्लिसर उनसे अच्छे खासे पैसे कमा रहे हैं मृत्युंजय सिंह से पूछने पर उन्होंने बताया कि मेरे दिमाग में आईडिया तब आया जब मैं एक बार रात को गूगल एडसेंस पर अपना कमाई देख रहा था और Google ने मेरा कमाई ब्लॉक कर दिया था तब मुझे ख्याल आया क्यों ना अपना प्लेटफॉर्म तैयार किया जाए तब उन्होंने ऐडजक्शन डॉट कॉम कंपनी की स्थापना कर डाली . मृत्युंजय सिंह ने बताया कि मैं उस फील्ड में अपना कदम रखा जिस फील्ड में मुझे थोड़ी सी भी नॉलेज नहीं है और मैं इंटरनेट और YouTube के माध्यम से कोडिंग और प्रोग्रामिंग की नॉलेज लिया और ऐडजंक्शन डॉट कॉम को बनाया ।


Spread the love
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here